Maa… Mai Nirdosh hu | माँ… मैं निर्दोष हूँ

ऐ…करमजली…ह-रा-म-खो-र…जन्म लेते ही माँ को खा गई, अब मुझे खायेगी क्या? अभी तक सोती रहेगी…संध्या हड़बड़ा कर उठ बैठी… देखी…प्रातःकाल के छः बज रहे थे। दिल डर के मारे बहुत तेजी से धड़कने लगा था,[…]

Continue reading …

Pagli ka shrap | पगली का श्राप

कहानी सुने: अगर आप कहानी सुनना पसंद नही करते या फिर अभी सुनना नही चाहते तो आगे कहानी पढ़े|   कहानी पढ़ें: मदनलाल जी निहायत चतुर…चालाक व लालची किस्म के इंसान थे। वो अगर किसी[…]

Continue reading …

Yaari | यारी

कहानी सुनें: अगर आप कहानी सुनना पसंद नही करते या फिर अभी सुनना नही चाहते तो आगे कहानी पढ़े|   कहानी पढ़े: सूरजगढ़ बहुत ही सम्पन्न गाँव था। यहाँ पर लोगों की आबादी गाँव की[…]

Continue reading …

Kisano ka Dard | किसानों का दर्द

कहानी सुनें: अगर आप कहानी सुनना पसंद नही करते या फिर अभी सुनना नही चाहते तो आगे कहानी पढ़े|   कहानी पढ़ें: रतन जैसे ही सुबह उठा…एक अजीब सा शोर था…उसने देखा कि पूरे गांव[…]

Continue reading …

Paiso Se Bhara Bag | पैसो से भरा बैग

कहानी सुनें: अगर आप कहानी सुनना पसंद नही करते या फिर अभी सुनना नही चाहते तो आगे कहानी पढ़े|   कहानी पढ़ें: चोर… चोर… पकड़ो… पकड़ो…दूर से आवाज आ रही थी कि इतने में हुसैन[…]

Continue reading …

Apni-Apni Soch | अपनी-अपनी सोच

कहानी सुनें: अगर आप कहानी सुनना पसंद नही करते या फिर अभी सुनना नही चाहते तो आगे कहानी पढ़े|   कहानी पढ़ें : एक दिन मैं बाजार जा रही थी। अभी एक दुकान पर जा[…]

Continue reading …